उत्तर प्रदेश सरकार

आर एंड डी संवर्धन

राज्य की आवश्यक्तानुसार अनुसंधान एवं विकास

उद्देश्य:

  • विज्ञान एवं तकनीकि के क्षेत्र में अप्लाइड एवं बेसिक रिसर्च को बढ़ावा देना।
  • राज्य में एडवांस साइंटिफिक रिसर्च के आयोजन हेतु सशक्त एसएण्डटी बेस तैयार करना।
  • नई तकनीकों को विकसित करने एवं जरूरत आधारित समस्याओं हेतु उपाय प्रदान करने हेतु आर एण्ड डी परियोजनाओं को कार्यरत करना।

गतिविधियां:

  • विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों में आर एण्ड डी परियोजनाओं को सहायता प्रदान करना।
  • युवा वैज्ञानिक योजना।
  • सीएसटीयूपी समर रिसर्च फेलोशिप प्रोग्राम

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों में आर एण्ड डी परियोजनाओं को सहायता प्रदान करना:

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों में आर एण्ड डी परियोजनाएं की सहायता सीएसटीयूपी की फ्लैगशिप योजना है, जहां विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र से संबंधित विभिन्न क्षेत्रों में आर एण्ड डी हेतु परिषद वित्तीय सहायता प्रदान करता है ताकि नए ज्ञान, तकनीकि समस्याओं के उपाय में मदद मिल सके, शैक्षणिक एवं संस्थागति विकास के अतिरिक्त। योजनाएं समान्य रूप से 02-03 वर्षों के लिए प्रौद्योगिकी, कृषि, आर एण्ड डी संस्थान, महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों को स्वीकृत होती हैं। निर्देशों को डाउनलोड करने हेतु यहां क्लिक करें।
युवा वैज्ञानिक योजना:
युवा वैज्ञानिक योजना (वाईएसएस) का प्रमुख उद्देश्य युवा वैज्ञानिकों (नियोजित/बेरोजगार) को त्वरित अनुसंधान सहायता प्रदान करना है ताकि वे नवोन्मय अनुसंधान विचारों पर कार्य कर सकें एवं उन्हे राष्ट्रीय एस एण्ड टी विकास प्रक्रिया में शामिल किया जा सके। यह योजना युवा वैज्ञानिकों के लिए लाभदायक है क्योंकि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में अनुसंधान के नए क्षेत्र में वे अपने उज्जवल एवं विकासशील विचारों पर कार्य कर सकें, ताकि एकीकृत अनुसंधान कार्यक्रम में कार्य किया जा सके एवं परियोजना के प्रबंधन में अनुभाव प्राप्त किया जा सके। निर्देशों को डाउनलोड करने हेतु यहां क्लिक करें।
सीएसटीयूपी समर रिसर्च फेलोशिप प्रोग्राम:
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद, उत्तर प्रदेश ने समर रिसर्च फेलोशिप की शुरुआत करी है जिससे एम.एससी. प्रथम एवं द्वितीय वर्ष (उत्तर प्रदेश में अध्ययनरत) के छात्रों को संवारा जा सके एवं भारत के प्रतिष्ठित संस्थानों से प्रख्यात प्रोफेसर/वैज्ञानिकों के साथ कार्य करने का अवसर प्राप्त हो सके। इसकी अवधि 2 माह होगी। 30 ऐसे ही फेलोशिप को 2018-19 में सम्मानित किया जाएगा, जिनका मासिक वेतन रु. 25,000 होगा (आने वाले वर्षों में फेलोशिप की संख्या 100 तक बढ़ सकती है)। सीएसटीयूपी-समर रिसर्च फेलोशिप को भौतिक विज्ञान, रसायनिक विज्ञान, जैविक विज्ञान, कृष विज्ञान एवं गणित के क्षेत्रों में सम्मानित किया जाएगा।
परिणाम:

  • मानव संसाधन/वैज्ञानिक मानव संसाधन का विकास
  • अनुसंधान हेतु बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर सपोर्ट एवं सशक्त एस एण्ड टी बेस का सृजन
  • पेटेंट एवं तकनीकि विकास
  • अंतर्राष्ट्रीय/राष्ट्रीय जर्नल एवं कॉंफ्रेंस में रिसर्च आर्टिकल का प्रकाशन
  • युवा शोधकर्ता/छात्रों के लिए अवसर कि वे उच्च डिग्रियां प्राप्त कर सकें जैसे पीएच.डी./एम.फिल
  • आवश्यक रिसर्च प्रोजेक्ट फाइंडिंग को संबंधित विभागों/संस्थानों को प्रेषित कर दिया गया है ताकि परिणामों का ठीक तरह से इस्तेमाल किया जा सके एवं राज्य के हित में संभावित कार्रवाई करी जा सके।
  • मेधावी छात्रों को अवसर प्रदान करना ताकि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में आधुनिक विकास को जाना जा सके।

 

आवदेन कैसे करें:

आर एण्ड डी परियोजनाओं, युवा वैज्ञानिक योजना एवं सीएसटीयूपी समर रिसर्च फेलोशिप प्रोग्राम हेतु एप्लीकेशन को www.cstup.org के माध्यम से ऑनलाइन जमा किया जा सकता है।